पत्रकार महेश राजपूत का व्यंग्य संग्रह ‘कभी फकीर कभी चौकीदार’ आनलाइन उपलब्ध

लेखक-पत्रकार महेश राजपूत का व्यंग्य संग्रह ‘कभी फकीर कभी चौकीदार!’ ई-प्रकाशन वेबसाईट नॉट नल ने ई-पुस्तक के रूप में जारी किया है। लेखक महेश ने बताया कि ८० पृष्ठों की पुस्तक में अधिकांश व्यंग्य पिछले दो साल में लिखे गये हैं और वर्तमान राजनीतिक-सामाजिक हालात पर टिप्पणी की कोशिश...

Read More

सवर्ण आरक्षण तो ठीक लेकिन रोजगार है कहाँ सरकार?

कृष्णमोहन झा गरीब सवर्णों को शिक्षा एवं नौकरियों में 10 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित करने वाला संविधान संशोधन विधेयक मोदी सरकार ने संसद में पेश किया तो उसके पारित होने में कोई संशय नहीं था। मोदी केबिनेट ने जब इस प्रस्ताव पर मुहर लगाईं तब ही अधिकांश दलों ने इसके समर्थन की घोषणा कर दी थी। इसलिए...

Read More

आर्टिकल 19-A में अब संशोधन कर लिख देना चाहिए कि….

अल्पसंख्यक इस अधिकार की श्रेणी में नहीं आते हैं… हाल ही में फ़िल्म जगत के कलाकार नसीरुद्दीन शाह ने ‘कारवां-ए-मोहब्बत’ नाम के एक प्रोग्राम में देश के माहौल को लेकर कुछ बातें कहीं जिसके बाद उनको लेकर एक वाक्य युद्ध छिड़ गया। उन्होनें शो में कहा-“कई इलाक़ो में हम देख रहें...

Read More

”देशहित” नहीं होता गेस्ट हाउस नहीं होता, और फिर दोस्ती नहीं होती

मेरा मानना है कि बहुतेरे लोग देशहित का काम नहीं करते हैं. हमारे पिताजी ने कभी देशहित का काम नहीं किया, शायद मैं भी अभी तक देशहित में कोई काम नहीं कर पाया हूं. मुझे लगता है कि आम जनता कभी भी देशहित में काम नहीं कर सकती. जनता देशहितैषी नहीं होती है शायद! आम जनता को देशहित से कोई मतलब नहीं...

Read More

अखिलेश नहीं चेते तो समाजवादी पार्टी इतिहास भी बन सकती है!

Ajai Kumar राम गोपाल यादव का शिवपाल की पिटाई किए जाने का बयान पुराने समाजवादियों को हजम नहीं हो रहा… अखिलेश छाया में कमजोर होता मुलायम का समाजवाद… अजय कुमार, लखनऊ उत्तर प्रदेश में मुलायम का समाजवाद हासिये पर जाता दिख रहा है। बसपा से गठबंधन के बाद समाजवादी पार्टी में विरोध के स्वर फूटने...

Read More

कृषि नीति और किसानों की दुर्दशा : किसान बस चुनावी वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है!

हिंदुस्तान में कृषि और किसान की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है. देश को आजाद हुए 70 बरस से अधिक हो गए हैं, लेकिन किसानों की बदहाली खत्म नहीं हुई है...

भाजपा का मिशन 2019 : चेहरे से वो पुरानी चमक और जोश गायब है!

Ajit Kumar : भाजपा के मिशन 2014 और मिशन 2019 के बीच एक ही समानता है कि दोनों की शुरूआत दिल्ली के एतिहासिक रामलीला से ही हुई। पर अंतर, यही है कि पिछली...

राजबब्बर जैसे आमजन से कटे आदमी प्रदेश अध्यक्ष बने रहें तो यूपी में कांग्रेस का अल्लाह ही मालिक है!

Ramendra Jenwar : काँग्रेस की हड़बड़ाहट अब यूपी में दिखाई दे रही है. आज प्रदेश भर के लोगों की मीटिंग बुलाई गयी है. होगा क्या? नेता दिन भर मंच से भाषण...

‘उरी’ भारतीय स्वाभिमान से भर देनेवाली फिल्म

फिल्मों की मनोरंजनात्मक दुनिया में मूवी आती हैं और चली जाती हैं, किेंतु कुछ फिल्म और किरदार ऐसे होते हैं जो सदैव जीवन्त बने रहते हैं, ठीक उसी तरह से...

क्या दलित-पिछड़ों के मिलन के बाद मुसलमान खुद को दोराहे पर पा रहे हैं?

Naved Shikoh दलित-पिछड़ों के मिलन में मुसलमान दोराहे पर… दलितों और पिछड़ों की राजनीति में माहिर दल सपा-बसपा दशकों पुरानी तल्खियां भुला कर एक हो गये।...

चौकीदार जी, जब कांग्रेस को ही सब करना है तो देश को आप की जरूरत क्यों है?

Imran Khan राम लला ताले में थे जब राजीव गाँधी ने ताले खुलवाए थे. कांग्रेस की ही सरकार थी जब बाबरी मस्ज़िद तोड़ी गई. कांग्रेस की ही सरकार थी जब मस्ज़िद...

भाजपा के गठबंधन तो देश विरोधियों से भी रहे हैं, देखें उदाहरण!

Nazeer Malik भाजपाइयों, संघियों को सपा-बसपा गठबंधन से बहुत दिक्कतें हैं। उनके कमेंट में इस गठबंधन को अवसरवाद कहा जा रहा है। लेकिन वे भूल जाते हैं कि...

मैं शिवराज सिंह चौहान में स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी को देखता हूं!

तो एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह और राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया की राज्य की...

एक मंदबुद्धि नेता के सामने ये सभी विपक्षी नेता मतिहीन साबित हुए : डा. वैदिक

डॉ. वेदप्रताप वैदिक आर्थिक आरक्षण: सरासर फर्जीवाड़ा? सवर्णों के लिए आर्थिक आरक्षण के विधेयक को संसद के दोनों सदनों ने प्रचंड बहुमत से पारित कर दिया...

संघ परिवार में कई लोग अपने वैवाहिक संबंध किसी बीमारी की तरह गुप्त रखते हैं!

Nitin Thakur : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में तीसरे नंबर की हैसियत रखनेवाले श्री कण्णन को महिला से संबंध होने की वजह से साल 2014 में संघ ने निकाल दिया...

फिर चली बात प्रियंका की!

संजय सक्सेना, लखनऊ लोकसभा चुनाव की दस्तक सुनाई देते ही कांग्रेस का एक धड़ा पुनः प्रियंका गांधी वाड्रा के पक्ष में माहौल बनाने लगा है। अबकी बार...

रंगमंच-सिनेमा का सफर: नई पीढ़ी पर प्रभाव

अनिल शर्मा अत्याधुनिक तकनीकी के विकास के मद्देनजर  रंगमंच से लेकर आज के सिनेमाई सफर पर नजर डाली जाए तो लगता है कि हमने शुद्धता, सात्विकता, सरलता...

तब राहुल भागते थे, अब मोदी भाग रहे हैं!

अनिल जैन समय का पहिया घूमता है और बडी बेरहमी से घूमता है! पांच साल पहले 2014 के लोकसभा चुनाव अभियान के दौरान नरेंद्र मोदी अपने बहुचर्चित और विश्व...

ईमानदार कही जाने वाली IAS चंद्रकला का एक चेहरा और भी है?

लखनऊ आवास पर छापे के बाद लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं… अजय कुमार, लखनऊ कड़क छवि और ईमानदार चेहरा समझी जाने वाली आईएएस अधिकारी बी.चंद्रकला का क्या एक...

पूर्व मुख्यमंत्रियों की बंगलाखोरी पर जस्टिस शर्मा ने कमलनाथ और शिवराज को आड़े हाथों लिया!

श्रीप्रकाश दीक्षित दिल्ली हाईकोर्ट की रिटायर्ड न्यायाधीश जस्टिस रेखा शर्मा एक लेख में अपनी बात यह कहते हुए समाप्त करती हैं की खुद के वेतन-भत्तों...

प्रधानसेवकजी को अंधेरभक्त चेखुर प्रसाद की चिट्ठी

आदरणीय प्रधानमंत्रीजीगोड़ छू के पल्‍लगी प्रधान सेवकजी, बहुत दिन बाद आपको पत्र लिख पा रहा हूं. पर-परिवार और रोजी-रोजगार में बिजी हो गया था तो...

ट्रंप ने मोदी के बारे में जो कुछ कहा वह घोर आपत्तिजनक है

डॉ. वेदप्रताप वैदिक अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप गज़ब के गैर-जिम्मेदार आदमी हैं। उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान में...

स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों और आज़ादी का अपमान तो न करो!

आज़ाद ख़ालिद देश की सबसे समस्या के तौर पर अगर देखा जाए तो बेरोज़गारी, शिक्षा, स्वास्थ, आम नागरिकों की सुरक्षा के अलावा देश का विकास और आने वाली...

Connect With Us

Advertisement