कमलनाथ ने वही बात कही जो भापजा कहती आ रही है!

कमलनाथ के बयान पर इतना जहर क्यों पैदा किया जा रहा है? मध्य प्रदेश के नव नियुक्त मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कोई नई बात नहीं कही। राज्य में स्थानीय लोगों को नौकरी मिले इसमें जरा भी गलत नहीं है, जो बात इससे पुर्व गुजरात सहित कई अन्य राज्यों में लागू है वही बात कही। यदि गलत है तो गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी भी गलत है। गलत तो भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी है जो खुले मंच से उत्तर प्रदेश में नौकरियों में स्थानीय लोगों को 90% स्थान देने की वाकालत करतें है।

गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रूपानी ने घोषणा करते हुए कहा कि ‘गुजरात में औद्योगिक और सेवा क्षेत्र में प्रवेश करने वाली कंपनियां 80 प्रतिशत नौकरियाँ गुजरातियों देनी होंगी’। इसके पूर्व जब नरेन्द्र मोदी मुख्यमंत्री थे तब से राज्यों में 70 प्रतिशत नौकरियाँ गुजरातियों के लिये लागू कर दी थी। आपको याद होगा कि कुछ ही महीने पूर्व गुजरात से किस प्रकार बिहारियों को खदेड़ा गया था।

यही हाल महाराष्ट्र की है जहां भाजपा की सहयोगी शिवसेना और मोदी के चेहते राज ठाकरे खुले आम बिहार – यूपी के लोगों के विरूद्ध जहर उगलते ही रहते हैं। वहीं भाजपा की महाराष्ट्र सरकार ने पूरे महाराष्ट्र में 80 प्रतिशत नौकरी स्थानीय मराठी लोगों को देने का आदेश पारित किया है। इसी प्रकार पिछले उत्तर प्रदेश के चुनाव में भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र में छपा हुआ कि उत्तर प्रदेश में यूपी के स्थानीय लोगों को नौकरियों में 90 प्रतिशत आरक्षण दिया जायेगा।

इसी प्रकार बिहार में भी 50 प्रतिशत का नियम लागू है। कमलनाथ के बयान में कुछ भी गलत नहीं है उन्होंने वही बात कही जो भापजा कहती आ रही है ।

शंभु चौधरी लेखक, स्वतंत्र पत्रकार और विधि विशेषज्ञ हैं। संपर्क [email protected]

भक्त

View all posts

Add comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Connect With Us

Advertisement